कांगड़ा ताजा खबरें मुख्य - पृष्ठ शिमला हिमाचल प्रदेश

जयराम कैबिनेट की महत्वपूर्ण बैठक शुरू, लगेगी ये 5 पाबंदियां, कल आए थे 250 केस  


पहली नज़र ब्यूतो शिमला

हिमाचल प्रदेश के सीएम जयराम ठाकुर की अध्यक्षता में आज राज्य सचिवालय में कैबिनेट बैठक का आयोजन किया जा रहा है। यह बैठक शुरू भी हो गई है। माना जा रहा है कि सूबे में कोरोना की बिगड़ती स्थिति को देखते हुए कठोर निर्णय ले सकती है।
गौरतलब है कि बीते कल प्रदेश कोरोना वायरस संक्रमण का एक बार फिर से बूम देखने को मिला था और एक साथ कुल 250 नए मामले रिपोर्ट किए गए थे। ऐसे में माना जा रहा है कि सूबे की जयराम सरकार आज प्रदेश में पाबंदियां लगाने के संबंध में बड़ा निर्णय ले सकती है।

जानें क्या क्या पाबंदियां लगा सकती है सरकार
शादी व अन्य सामाजिक व राजनीतिक कार्यक्रमों में शामिल होने वालों की संख्या तय हो सकती है।
भंडारों और दूसरे आयोजन पर भी रोक लगाई जा सकती है।
प्रदेश में प्रवेश के लिए कोविड वैक्‍सीन की दोनों डोज लगाने की शर्त लागू हो सकती है। पर्यटकों व मंदिरों में आने वाले पड़ोसी राज्‍यों के लोगों के लिए वैक्‍सीनेशन अनिवार्य की जा सकती है।
अभी शीतकालीन स्कूलों में अवकाश है, जबकि ग्रीष्मकालीन स्कूलों में एक सप्ताह का अवकाश है, लेकिन इसके बाद प्राथमिक स्कूल बंद करने पर चर्चा और निर्णय हो सकता है।
नाइट कर्फ्यू लगाने, भीड़ को नियंत्रित करने, विदेश एवं राज्य के बाहर से आने वाले लोगों और इंटर स्टेट परिवहन सेवा को लेकर निर्णय हो सकता है।
माना जा रहा है कि सरकार पड़ोसी राज्यों में कोरोना की स्थिति का अध्ययन करने के बाद बंदिशों को लगाए जाने पर कोई निर्णय लेगी।
पर्यटन स्‍थलों में पर्यटकों के आने व घूमने को लेकर कुछ बंदिशें लग सकती हैं। कोविड नियमों की कड़ाई से पालना को लेकर निर्देश आ सकते हैं।
नो मास्‍क नो सर्विस भी एक बार फ‍िर से प्रदेश में सख्‍ती से लागू हो सकती है।
मंत्रिमंडल की बैठक में कोविड के अलावा अन्‍य अहम निर्णय भी लिए जाएंगे।
बैठक में हिमाचल पुलिस कांस्‍टेबल को आठ वर्ष बाद मिलने वाले नियमित वेतनमान के मसले पर भी चर्चा संभव है।
बैठक में नई खेल नीति और ऊर्जा नीति का ड्राफ्ट भी चर्चा के लिए आ सकता है। इतना ही नहीं इसी मंजूरी भी दी जा सकती है।
विभिन्न विभागों में खाली पड़े पदों को भरने एवं सृजित करने के साथ मुख्यमंत्री की तरफ से की गई घोषणाओं पर भी बैठक में मोहर लग सकती है।