कांगड़ा ताजा खबरें मुख्य - पृष्ठ हिमाचल प्रदेश

जलेरा गांव में बिना समय गंवाए ऑक्सीजन कंस्ट्रेेटर लेकर पहुंची पराशर की टीम

पहली नज़र ब्यूरो डाडासीबा

समाजेसवी, नेशनल शिपिंग बोर्ड के सदस्य और वीआर मेरीटाइम सर्विसेस के प्रबंध निदेशक कैप्टन संजय पराशर व उनकी टीम सामाजिक सरोकारों को निभाने में नए कीर्तिमान स्थापित कर रही है। रविवार सुबह सवा सात बजे बठरा पंचायत के जलेरा गांव की निवासी निर्मला देवी ने पराशर से फोन पर संपर्क साध कर मदद मांगी थी कि उनके पति अशोक कुमार की तबीयत खराब हो गई है और सांस लेने में दिक्कत पेश आ रही है। पराशर ने बिना समय गंवाए अपनी टीम को उक्त पते पर रवाना कर दिया। पिछली रात को तूफान आने से गांव को जाने वाले रास्ते में पेड़ गिरा था और रास्ता अवरूद्ध हो गया था। ऐसे में टीम के सदस्य दूसरी गाड़ी से अन्य वैकल्पिक मार्ग से अशोक कुमार के घर पहुंचे और पीपीइ किट पहनकर ऑक्सीजन कंस्ट्रेटर लगा दिया।

Narendra Modi Himachal Sambodhan_24x34_300 DPI (1)
4.10.2022.qxp
Happy Dushara
unnamed (1)
715105cc-65b1-4c2b-801b-2741f5827d43
91a64c2b-30bf-4a65-850f-8ef1744c0d8c

                    यह कार्य टीम ने महज आधे घंटे में पूरा कर दिया। ऑक्सीमीटर अशोक का ऑक्सीजन लेबल पहले 68 दर्शा रहा था तो कुछ ही देर बाद कंस्ट्रेटर लगने के बाद लेबल 88 तक पहुंच गया। अशोक की पत्नी ने बताया कि उनके पति अस्थमा रोग से पीड़ित हैं और अलसुबह से ही उन्हें सांस लेने में दिक्कत आ रही थी। कुछ जगहों पर पति काे अस्पताल ले जाने की बात भी की गई, लेकिन कोई आगे नहीं आया। फिर किसी ने बताया कि संजय पराशर ने जसवां-परागपुर क्षेत्र के विभिन्न स्थानों पर ऑक्सीजन कंस्ट्रेटर की व्यवस्था की है और एक कुशल टीम इस कार्य में लगाई है तो उन्होंने पराशर से फोन पर बात की।

               उन्होंने बताया कि उनका परिवार कुछ दिन पहले ही दिल्ली से अपेन पैतृक गां में आया है। पराशर द्वारा इस तरह के इंतजामों का आभार जताते हुए निर्मला ने कहा कि खुद के संसाधानों से ऐसे उपकरण खरीदकर वह मानवता के लिए बहुत बड़ा कार्य कर रहे हैं। वहीं, संजय ने बताया कि उन्होंने कुल 37 ऑक्सीजन कंस्ट्रेटर खरीदे थे, जिन्हें अस्पतालों में देने के अलावा अपने वॉलींटियर्स को सौंपा गया है ताकि आपात स्थिति में मरीज की तुरंत मदद की जा सके।


6
a22be498-f55b-49a2-a2f6-fd86d9a2b371
190a543a-256c-4178-bc57-651d2e0b6a6d
97a1e0dc-502f-492f-96dc-403ee95fbe0e
8
049b5d0b-217e-4329-8bc0-a582b6a690e8
7
9
10