कांगड़ा ताजा खबरें मुख्य - पृष्ठ हिमाचल प्रदेश

महिलाओं का सामजिक व आर्थिक उत्थान प्रदेश सरकार की प्राथमिकताः सरवीन


शहरी विकास, आवास एवं नगर नियोजन मंत्री सरवीन चौधरी ने कहा कि महिलाओं का सामजिक, आर्थिक उत्थान तथा उन्हें विकास के समान अवसर प्रदान करना सरकार की उच्च प्राथमिकता है। प्रदेश के विकास में महिलाओं की सक्रिय भागीदारी सुनिश्चित बनाने के लिए महिला कल्याण व उत्थान योजनाओं को सृदुढ़ करने के साथ-साथ अनेक नई योजनाएं चलाई गई हैं।
सरवीन चौधरी आज रैत में अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के उपलक्ष्य में महिला एवम् बाल विकास विभाग द्वारा आयोजित कार्यक्रम में बतौर मुख्यातिथि शिरकत करने के उपरांत बोल रहीं थी। कार्यक्रम में  शहरी विकास  मंत्री ने ज्योति प्रज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। उन्होंने महिलाओं से भी कहा कि उन्हें सभी कार्यों में आगे आना पड़ेगा तभी विकास संभव है। उन्होंने कहा कि बेटियां हर क्षेत्र में अपना नाम रोशन कर रही हैं तथा वो बेटियां ही हैं जो दो परिवारों को जोड़ती हैं।
शहरी विकास  मंत्री ने कुछ क्षेत्रों में घटते लिंगानुपात पर चिंता व्यक्त करते हुए ‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’ अभियान के अंतर्गत जिला में लैंगिक असंतुलन को दूर करने के लिए पूर्ण प्रतिबद्धता से कार्य करने के साथ-साथ लड़कियों की शिक्षा, सुरक्षा, सम्मान, स्वाभिमान और अधिकारों को लेकर भी जागरूकता पर बल दिया। उन्होंने कहा कि बेटा और बेटी के बीच भेदभाव की मानसिकता में सकारात्मक बदलाव लाना सभी की सामूहिक जिम्मेदारी है। उन्होंने इसके लिए सक्रिय भागीदारी एवं सहयोग का आग्रह किया। उन्होंने कहा कि हिमाचल सरकार ने आशा वर्कर के मानदेय में राज्य अंश को 500 प्रतिमाह तथा साथ ही आशा वर्कर को ग्रामीण क्षेत्र प्रसव से पहले जांच के लिए 600 रुपये जबकि शहरी क्षेत्र में 400 रुपए दिए जाएंगे। उन्होंने कहा कि पिछले वर्ष सरकार ने सहारा योजना आरंभ की थी इस योजना के अंतर्गत गम्भीर बीमारी से ग्रस्त लोगों को दो हजार रुपए देने का प्रावधान किया गया है ।
शहरी विकास मंत्री ने कहा कि शहरी क्षेत्रो में महिला द्वारा स्वयं सहायता समूहों में तैयार किए जा थे उत्पादनों की बिक्री के लिए उन्हें  ई-मार्केटिंग,  ई-कॉमर्स प्लेटफार्म के साथ जोड़ने की प्रक्रिया आरंभ की जाएगी,  इससे इन समूहों को अपने उत्पादन को उचित मूल्यों पर बेचने के लिए बाजार उपलब्ध हो जाएगा। इस के अलावा उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री मातृ योजना के तहत 2019-20 में रैत ब्लॉक में 707 गर्भवती महिलाओं पर लगभग 36 लाख रुपए व्यय किए जा चुके हैं ।
इस कार्यक्रम में आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं द्वारा मनमोहक कार्यक्रम प्रस्तुत किए गए । 27 महिलाओं को व 3 बेटियों को उत्कृष्ट कार्य के लिए प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया और पोषण पखवाड़े का भी शुभारम्भ किया गया ।
बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान में जिजीविषा के अंतर्गत हमारी गांव की बेटी हमारी शान कार्यक्रम के तहत डॉ0 अमिता राणा को शहरी विकास  मंत्री  द्वारा समानित भी किया गया । पोषण पखवाड़ा कार्यक्रम के शुभारम्भ अवसर पर उत्कृष्ट कार्य करने वाले कर्मचारियों, आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को भी शहरी विकास मंत्री द्वारा समानित किया गया ।
एसडीएम जगन्नाथ ठाकुर  ने मुख्य अतिथि का स्वागत किया और हिमाचल प्रदेश सरकार  द्वारा महिलाओं के लिए चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं की विस्तार से जानकारी दी । उन्होंने मुख्य अतिथि को शॅाल टोपी व स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया।
बाल विकास योजना अधिकारी ने अशोक शर्मा ने  विभाग द्वारा  महिलाओं के लिए चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं की जानकारी दी ।
इस डॉ0 अमिता राणा, दीपक अवस्थी, हरमिंदर सिंह, अतुल, प्रधानाचार्य आईटीआई लखनपाल सहित आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, नौनिहाल, विभागों के अधिकारी व बड़ी संख्या में महिलाएं उपस्थित रहीं।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *