ताजा खबरें मुख्य - पृष्ठ राजनीति शिक्षा स्वास्थ्य हिमाचल प्रदेश

मुख्यमंत्री ने की झंडूता में 50वें राज्यत्व दिवस समारोह की अध्यक्षता

पहली नज़र, बिलासपुर
बिलासपुर जिले के शहीद अश्विनी कुमार मेमोरियल वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय झंडूता में आज 50वें पूर्ण राज्यत्व दिवस समारोह की अध्यक्षता करते हुए मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर राज्य सरकार के कर्मचारियों और पेंशनरों को जुलाई, 2019 से 5 प्रतिशत महंगाई भत्ता देने की घोषणा की। इससे कर्मचारियों और पेंशनरों को 250 करोड़ रुपये से अधिक का वित्तीय लाभ होगा। उन्होंने झंडूता में लोक निर्माण विभाग का मण्डल कार्यालय खोलने की भी घोषणा की। उन्होंने शहीद अश्विनी कुमार वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय झंडूता के अतिरिक्त भवन के लिए 3 करोड़ रुपये की घोषणा भी की। उन्होंने मण्डी में पुलिस बैंड स्थापित करने की घोषणा की।

 

vishak
1
उन्होंने कहा कि राज्य की विकास यात्रा को दर्शाने के लिए प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में वर्ष भर में 51 कार्यक्रमों का आयोजन करके पूर्ण राज्यत्व का स्वर्ण जयंती वर्ष मनाया जाएगा। उन्होंने लोगों से इस उत्सव में भाग लेने का आग्रह किया।

 

मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर राष्ट्रीय ध्वज फहराया और पुलिस, होमगार्ड्स, एनसीसी कैडेट्स, एनएसएस कैडेट्स, स्काउट्स एंड गाइड्स और स्कूली बच्चों की प्रभावशाली परेड की सलामी ली।

 

परेड का नेतृत्व अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अशोक रतन ने किया।

 

मुख्यमंत्री ने 50वें पूर्ण राज्यत्व दिवस के अवसर पर स्वर्ण जयंती पट्टिका का अनावरण भी किया

 

पूर्ण राज्यत्व दिवस के शुभ अवसर पर प्रदेश के लोगों को बधाई देते हुए, मुख्यमंत्री ने कहा कि इन 49 वर्षों के दौरान राज्य ने सभी क्षेत्रों में अभूतपूर्व विकास किया है, जिसका श्रेय राज्य के लोगों के सक्रिय समर्थन और सहयोग तथा पूर्व की सरकारों के सक्षम नेतृत्व को जाता है। उन्होंने कहा कि जब हिमाचल ने राज्य का दर्जा प्राप्त किया, तो राज्य में सड़कों की लंबाई 7740 किलोमीटर थी और साक्षरता दर 31.3 प्रतिशत थी। उन्होंने कहा कि राज्य में 4963 शैक्षणिक संस्थान और 482 स्वास्थ्य संस्थान थे और केवल 2944 गांवों में बिजली की सुविधा थी। उन्होंने कहा कि राज्य में सभी क्षेत्रों में अभूतपूर्व विकास हुआ है। आज राज्य में 37207 किलोमीटर सड़कों का नेटवर्क है और कुल 3226 में से 3128 पंचायतें सड़कों से जुड़ी हुई हैं।

 

जय राम ठाकुर ने कहा कि वर्तमान राज्य सरकार ने 27 दिसंबर, 2019 को अपने कार्यकाल के दो वर्ष पूरे किए। राज्य सरकार ने अभिनव और नई कल्याणकारी तथा विकासोन्मुखी योजनाएं आरम्भ करके राज्य के सभी क्षेत्रों और वर्गों को इनका लाभ प्रदान करने के लिए महत्वपूर्ण प्रयास किए हैं।

 

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य को इस अवधि के दौरान सुशासन, स्वास्थ्य, शिक्षा, कृषि और बागवानी के क्षेत्र में बेहतर प्रदर्शन के लिए राष्ट्रीय स्तर के पुरस्कार प्राप्त हुए हैं। उन्होंने कहा कि सतत् विकास लक्ष्यों की प्राप्ति के लिए राज्य को देश का सर्वश्रेष्ठ राज्य चुना गया है, जो वास्तव में गौरव की बात है।

 

जय राम ठाकुर ने कहा कि जन मंच, मुख्यमंत्री सेवा संकल्प हेल्पलाइन, हिमाचल गृहिणी सुविधा योजना, हिमकेयर और सहारा जैसी नई योजनाओं के अच्छे परिणाम आए हैं और कल्याणकारी योजनाओं के प्रभावी क्रियान्वयन के कारण हिमाचल प्रदेश समग्र प्रदर्शन में देश का दूसरा सर्वश्रेष्ठ राज्य बन गया है। उन्होंने कहा कि राज्य ने शिक्षा और स्वास्थ्य के क्षेत्र में ‘स्टेट आॅफ द स्टेट्स’ अवार्ड में प्रथम स्थान प्राप्त किया है।

 

मुख्यमंत्री ने कहा कि मंत्रिमण्डल की पहली बैठक में वर्तमान राज्य सरकार ने बिना किसी आय सीमा के सामाजिक सुरक्षा पेंशन प्राप्त करने की आयु सीमा को 80 से घटाकर 70 वर्ष किया है। उन्होंने कहा कि इस पहले निर्णय से 1.30 लाख वरिष्ठ नागरिक लाभान्वित हुए है और वर्तमान में 2,63,798 वरिष्ठ नागरिकों को 1500 रुपये प्रति माह सामाजिक सुरक्षा पेंशन प्रदान की जा रही हैं।

 

जय राम ठाकुर ने कहा कि राज्य के लोगों के साथ सीधा संवाद स्थापित करने के उद्देश्य से शुरू किए गए जनमंच के बहुत अच्छे परिणाम आए हैं और 3 जून, 2018 के पहले जन मंच के आयोजन से अब तक 181 जन मंच कार्यक्रम राज्य के विभिन्न हिस्सों में आयोजित किए जा चुके हैं। उन्होंने कहा कि 90 प्रतिशत से अधिक शिकायतों का मौके पर ही निवारण किया गया और शेष शिकायतों को कार्रवाई के लिए संबंधित विभागों को तुरंत भेज दिया गया। उन्होंने कहा कि इसके अलावा, सरकार को जनता के करीब लाने और नागरिकों की अधिकांश समस्याओं का समाधान उनके घर-द्वार पर करने के लिए राज्य में मुख्य मंत्री सेवा संकल्प हेल्पलाइन-1100 शुरू की गई है।

 

मुख्यमंत्री ने कहा कि यह देश का सौभाग्य है कि प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के रूप में एक मजबूत और सक्षम नेतृत्व का आशीर्वाद मिला और उनके दूरदर्शी नेतृत्व में देश अपने पुराने गौरव को वापस पा रहा है। उन्होंने कहा कि राज्य में आयुष्मान भारत योजना के तहत कवर नहीं किए गए सभी परिवारों के लिए हिम केयर योजना शुरू की गई है, जिसके तहत आयुष्मान भारत योजना की तर्ज पर परिवार के पांच लोगों को 5 लाख रुपये की निःशुल्क चिकित्सा सुविधा उपलब्ध करवाई जा रही है। उन्होंने कहा कि इस योजना के तहत एक वर्ष के भीतर 5.50 लाख परिवारों का पंजीकरण किया गया है और इस योजना के तहत 54.75 करोड़ रुपये व्यय कर 58 हजार से अधिक रोगियों का इलाज किया गया है। उन्होंने कहा कि लकवा, कैंसर और मस्कुलर डिस्ट्राॅफी जैसी गंभीर बीमारियों से जूझ रहे पात्र रोगियों को सहारा योजना के तहत प्रति माह 2000 रुपये की वित्तीय सहायता प्रदान की जा रही है।

 

जय राम ठाकुर ने कहा कि 7-8 नवंबर, 2019 को धर्मशाला में पहली बार ग्लोबल इन्वेस्टर्स मीट के आयोजन से यह छोटा सा राज्य दुनिया भर के उद्यमियों और निवेशकों के लिए एक मंच बन गया। ग्लोबल इन्वेस्टर्स मीट का उदघाटन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने किया था।  उन्होंने कहा कि इन प्रयासों के परिणामस्वरूप अब तक 96,720.88 करोड़ रुपये के 703 समझौता ज्ञापनों पर हस्ताक्षर किए गए हैं, जो मीट के लिए तय लक्ष्य से बहुत अधिक है। उन्होंने कहा कि 27 दिसम्बर, 2019 को 13,656 करोड़ रुपये की 240 परियोजनाओं का ग्राउंड ब्रेकिंग समारोह आयोजित किया गया। इससे राज्य के युवाओं के लिए रोजगार के नए अवसर मिलेेंगे।

 

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए विशेष पहल की गई है और एक पर्यटन नीति बनाई गई है, जिसके तहत वर्ष भर पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए एक कार्य योजना बनाई गई है। उन्होंने कहा कि नई राहें-नई मंजिलें योजना के तहत, चांसल घाटी को स्कीइंग, जंजैहली के लिए इको-टूरिज्म, पैराग्लाइडिंग के लिए बीड़-बिलिंग और जल क्रीड़ा के लिए लारजी और पौंग डैम को विकसित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि राज्य के लिए 1892 करोड़ रुपये की एडीबी परियोजना स्वीकृत की गई है, जिससे हिमाचल प्रदेश को पसंदीदा पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने में मद्द मिलेगी।

 

मुख्य रूप से युवाओं में नशीली दवाओं के दुरुपयोग के बढ़ते मामलों पर चिंता व्यक्त करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार इस सामाजिक बुराई की रोकथाम के लिए प्रभावी कदम उठा रही हैं। उन्होंने कहा कि इसके लिए प्रत्येक नागरिक की सक्रिय भागीदारी की आवश्यकता है और हिमाचल प्रदेश को नशा मुक्त राज्य बनाना हम सबकी जिम्मेदारी है।

 

जय राम ठाकुर ने कहा कि प्रधानमंत्री द्वारा जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद-370 को खत्म करना, तीन तलाक और नागरिक संशोधन अधिनियम, 2019 का निर्णय लेना राष्ट्र को सबसे बड़ा उपहार है और यह नरेंद्र मोदी के सशक्त नेतृत्व के कारण ही संभव हुआ। उन्होंने कहा कि इससे एक राष्ट्र, श्रेष्ठ भारत का मार्ग प्रशस्त हुआ है।

 

मुख्यमंत्री ने कहा कि बिलासपुर के कोठीपुरा में एम्स का निर्माण किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि इसके लिए राज्य के लोग प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और तत्कालीन स्वास्थ्य मंत्री और वर्तमान भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड््डा के आभारी हैं। उन्होंने कहा कि बिलासपुर के लिए लगभग 66 करोड़ रुपये की पेयजल आपूर्ति योजना को जल्द शुरू किया जाएगा। उन्होंने कहा कि बिलासपुर जिले में 105 करोड़ रुपये का हाइड्रो इंजीनियरिंग काॅलेज बनाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि बिलासपुर को पर्यटन की दृष्टि से विकसित करने के प्रयास किए जा रहे है और श्री नैना देवी जी को जल्द ही आनंदपुर साहिब से रोपवे द्वारा जोड़ा जाएगा। उन्होंने कहा कि 37.81 करोड़ रुपये से बनने वाली जलापूर्ति योजना के पूरा होने से कोट धार क्षेत्र की 19 पंचायतों को लाभ मिलेगा।

 

मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर सांस्कृतिक कार्यक्रम में भाग लेने वाले प्रतिभागियों, परेड कमांडर और कंटीजेंट कमाण्डर्स को भी सम्मानित किया। इस अवसर पर रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम भी आयोजित किए गए।

 

सिंचाई एवं जनस्वास्थ्य मंत्री महेंद्र सिंह ठाकुर, विधायक सरकाघाट कर्नल इंद्र सिंह, विधायक झंडूता जेआर कटवाल, विधायक बिलासपुर सदर सुभाष ठाकुर, विधायक घुमारवीं राजिंद्र गर्ग, पूर्व विधायक रणधीर शर्मा और आरआर कौंडल, मुख्य सचिव अनिल कुमार खाची, पुलिस महानिदेशक एसआर मरडी, उपायुक्त बिलासपुर राजेश्वर गोयल, निदेशक सूचना और जनसंपर्क हरबंस सिंह ब्रसकोन, एसपी बिलासपुर साक्षी वर्मा और वरिष्ठ अधिकारी इस अवसर पर उपस्थित थे।
2

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *