अपराध कांगड़ा ताजा खबरें मुख्य - पृष्ठ शिक्षा स्वास्थ्य हिमाचल प्रदेश

हैदराबाद पुलिस का बेहतरीन कदम : डॉ. अरूणदीप

vishak
1

dir="auto" data-smartmail="gmail_signature">डॉ. अरूणदीप : सहायकाचार्य (संस्कृत) डीएवी कॉलेज कांगडा

हैदराबाद में महिला डॉक्टर के बलात्कार और निर्मम हत्या के चारों आरोपियों को पुलिस ने मुठभेड में मार गिराया। जैसे ही यह समाचार पढा, सीना गर्व से चौडा हो गया। शायद यही सही अंजाम था, उन दरिंदों का क्योंकि निर्भया कांड की बात करें अथवा गुडिया प्रकरण की, आरोपी इतना समय बीतने पर भी जिंदा हैं। अदालत से तारीख पर तारीख मिलती जा रही है। सुना है कि शायद इसी महीने निर्भया के कातिलों की फांसी की तारीख का ऐलान अदालत कर दे पर जल्लाद ही नहीं मिल रहा। उन्नाव का ही मामला देखें तो दरिंदों की इतनी हिम्मत कैसे हो गई कि किसी बेगुनाह को शरेआम जिंदा जला गया ?  तो क्यों ना ऐसे सभी दरिंदों को शरेआम गोली मार दी जाय, चौराहे पर लटका दिया जाय। हमारी संसद को, हमारी सरकार को ,हमारे न्यायालय को सख्त से सख्त कानून बनाने ही होंगे।

           

            हालांकि मैं जानता था कि समाज में औवैसी जैसे कुछ ठेकेदार हैदराबाद पुलिस की इस कार्यवाही पर सवाल उठाने आऐंगे और हुआ भी यही , सबसे पहले औवैसी ने ही इन्काउंटर पर सवाल खडा किया। कुछ मानवाधिकार के ठेकेदार भी कह रहे हैं कि कि पुलिस के द्वारा किए गए इस इन्काउंटर की उच्च स्तरीय जांच होनी चाहिए, पर सोच के देखिए कि अगर यह सब औवैसी या मानवाधिकार के ठेकेदारोम की खुद की बच्ची के साथ हुआ होता तो भी क्या आप यही सवाल उठाते ???

2